भारत मे बेरोजगारी-The unemployment rate in India 2022


भारत मे आजादी के 74 बर्ष के बाद आज भी Unemployment (बेरोजगारी ) एक प्रमुख समस्या हे । 2019 के covid-19 महामारी के कारण भारत मे unemployment का दर ने आसमान छुआ । lockdown के कारण बहत सारे लोगों ने अपना job गबाया जिस के कारण बहत बड़ी आर्थिक संकट का सामना करना पड़ा ।

2022 मे लॉक-डाउन के हटने के बाद लोग फिरसे अपने अपने काम मे जा चुके हें जिसे की बेरोजगारी दर मे सुधार हो रहा हें और आगे जाके और भी सुधारने की आसा हे ।

बेरोजगारी क्या हे (What is unemployment in hindi)

अगर कोई ब्यक्ति कार्य करने योग्य हे लेकिन वे किसी भी प्रकार के कमाई योग्य कार्य मे नयुक्त नहीं हे जिसके कारण उसकी कोई भी कमाई नहीं हो पा रही उसे बेरोजगार कहा जाता हे ।

Current Weekly Status (CWS) के अनुसार एक ब्यक्ति को बेरोजगार माना जाएगा अगर वो ब्यक्ति एक सप्ताह के किसी भी एक दिन मे कम-से-कम 1 घंटा भी किसी कार्य मे नयुक्त नहीं हो रहा हे , लेकिन कार्य करने के लिए योग्य हे और इसकी मांग कर रहा हे ।

बेरोजगारी किसी भी देश के लिए एक बहत बड़ी समस्या हे ।

बेरोजगारी के प्रकार (Types of unemployment in hindi)

आज के समय बेरोजगारी मुख्यतः 7 प्रकार के हें :

प्रच्छन्न बेरोजगारी (Disguised Unemployment):

अगर किसी एक कार्य मे या एक संगठन मे जरूरत से ज्यादा ब्यक्ति कार्य कर रहे हों तो जो अतिरिक्त ब्यक्ति कार्य मे नयुक्त हे जिनकी कोई भी आवस्यकता नहीं हे, उन्हे प्रछन्न बेरोजगार कहा जाता हे ।

इस तरह की बेरोजगारी कृषि मे पाई जाती हे । जहां की जरूरत से ज्यादा लोग कृषि क्षेत्र मे नयुक्त होते हें ।

मौसमी बेरोजगारी -Seasonal Unemployment :

अगर एक कार्यख्यम ब्यक्ति बर्ष के किसी एक समय मे पूरीतरह बेरोजगार रहता हे कोई भी कार्य न होने के कारण, उसे मौसमी बेरोजगार कहा जाता हे ।

इस तरह की बेरोजगारी कृषि क्षेत्र देखि जाती हे । जहां की फसल के एक निरधिस्ट समय मे किसानों के पास कोई भी काम नहीं होता हे । उस समय वे पूरीतरह से बेरोजगार होते हें ।

चक्रीय बेरोजगारी – Cyclical Unemployment :

चक्रीय बेरोजगारी मुख्यतः पूंजीबाद अर्थब्यवस्था मे देखि जाती हे। ब्यबसाय मे मंदी के समय कर्मचारिओ की छटाई की जाती हे जिसके कारण बेरोजगारी बढ़ती हे । पुनः ब्यबसाय मे ऊनती के समय कर्मचारिओ को बापिस कार्य मे नयुक्त किया जाता हे ,इसे चक्रीय ब्यबस्था कहा जाता हे ।

मंदी के समय देखि जानेवाली बेरोजगारी को चक्रीय बेरोजगारी कहा जाता हे ।

प्रौद्योगिकीय बेरोजगारी – Technological Unemployment :

प्रौद्योगिकीय बेरोजगारी एक नए समय का समस्या हे, जो की कार्य खेत्र मे नई टेक्नॉलजी के आजाने से देखि जा रही हे ।

आज टेक्नॉलजी के कारण बहत सारे लोगों का काम एक इंसान या फेर एक कंप्युटर/मसीन के जरिए बहत ही साठीक और तेजी से की जारही हे । जिस के कारण बहत लोग बेरोजगार हो रहे हें ।

World Bank के अनुसार भारत मे ऑटमैशन के कारण हर साल 69% jobs खतरे मे हे । आगे ये और भी बढ़ने की आसंका हे ।

अस्थायी बेरोजगारी – Frictional Unemployment :

Frictional Unemployment जिसे की Search Unemployment भी कहा जाता हे । ये उस समय देखि जाती हे जब कोई ब्यक्ति एक कार्य से दूसरे कार्य मे नयुक्ति ढूंढ रहा होता हे ।

जब कोई ब्यक्ति एक कार्य को स्व ईछा से छोड़ कर दूसरे कार्य की तलास मे जाता हे तब नई कार्य ढूंढने मे लगने वाली समय के बीच मे वे बेरोजगार होता हे उसे अस्थाई बेरोजगारी कहा जाता हे ।

इस प्रकार की बेरोजगारी मे कोई भी बाहरी कारक का भूमिका नहीं होता ये ब्यक्ति की स्व ईछा से होता हे । इसमे जॉब्स का न होना ,टेक्नॉलजी,अर्थब्यबस्था का कोई भूमिका नहीं होता हे ।

असुरक्षित बेरोजगारी – Vulnerable Unemployment :

असुरक्षित बेरोजगारी मे ब्यक्ति किसी कार्य मे असुरीक्षित रूप से कार्य करता हे , उसे किसी भी प्रकार की Legal Protection उपलब्ध नहीं होती ।

Vulnerable Unemployment मे मौखिक रूप से किसी को कार्य मे नयुक्त किया गया होता हे । जिसका कोई भी रिकार्ड रखा नहीं जाता , किसी भी समय उसे हटाया जा सकता हे , पेमेंट भी कोई सुरख्या प्रदान नहीं किया जाता हे ।

भारत मे असुरक्षित बेरोजगारी सबसे प्रमुख बेरोजगारी हे और बहत मात्रा मे पाई जाती हे ।

भारत मे बेरोजगारी दर -The unemployment rate in India 2022

What is Unemployment Rate? बेरोजगारी दर क्या हे ?

किसी देश मे रहने वाले सारे कार्यख्यम ब्यक्ति और उन्मे से कार्य मे नयुक्त न होने वाले ब्यक्तिओं का प्रतिसत को Unemployment Rate कहा जाता हे ।

Unemployment Rate को गणना करने के लिए हमे Total labour Force के कितने प्रतिसत लोग बेरोजगार हें ये निकालना पड़ता हे ।

किसी देश के सम्पूर्ण कार्यख्यम ब्यक्ति के जनसंख्या को Total labour Force कहा जाता हे ।

भारत मे बेरोजगारी का दर कितना हे ?

भारत मे जनजीवन सामान्य होने के करना और lockdown के हटने से बेरोजगारी का दर धीरे धीरे घट रहा हे ।

Centre for Monitoring Indian Economy (CMIE) के रिपोर्ट के अनुसार फ़रवरी 2022 के महीने मे भारत का Unemployment Rate 8.10% था जोकी मार्च 2022 आखिर तक 7.6% तक घट चुका हे ।

भारत के सहरी क्षेत्र मे Unemployment Rate 8.5 प्रतिसत और ग्रामीण क्षेत्र मे 7.1 प्रतिसत रही हे ।

ये रिपोर्ट दिखती हे की भारत की अर्थ ब्यबस्था धीरे धीरे सुधार रही हे ।

क्या आप जानते हें 2022 मे दुनिया का सबसे अमीर आदमी के लिस्ट मे कौन कौन सामील हे -click करें

Sources: https://economictimes.indiatimes.com/jobs/unemployment-rate-decreasing-in-india-cmie


Leave a Comment

Your email address will not be published.